Depression treatment

10 Effective depression treatment- तनाव से निकलने के उपाय

Depression Treatment – हेलो!! दोस्तों आजकल महामारी के इस कठिन समय में हर कोई महामारी से तो जूझ ही रहा है। साथ ही बीमारी के इस माहौल में जब लोग आये दिन अपनों खो रहे हैं। हर फ़ोन हर Newspaper और हर News Channel में हर तरफ सिर्फ बीमारी और दुःख है। ऐसे में हर कोई तनावग्रस्त है।

आज कल Depression बहुत ही आम बात हो गयी है लेकिन इसे कतई नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। डिप्रेशन बहुत ही Serious Problem है। यह एक मानसिक समस्या है। ये समस्या यदि अधिक बढ़ जाये तो व्यक्ति आत्महत्या तक कर सकता है इसलिए Depression Treatment करना सबसे ज्यादा जरूरी है। Depression से ग्रसित व्यक्ति सामान्य व्यव्हार नहीं करते। और अपना मानसिक संतुलन खो बैठते हैं।

हर व्यक्ति में तनाव के अलग अलग कारण हो सकते हैं। लेकिन हर डिप्रेस व्यक्ति के लक्षण लगभग एक जैसे ही होते हैं। जैसे की सबसे मुख्य लक्षण है नींद न आना। ये तो एक सबसे बड़ा और सभी डिप्रेस व्यक्तियो में पाया जाने वाला लक्षण है। लेकिन इसके साथ ही डिप्रेस व्यक्ति के अंदर आप कुछ ऐसे लक्षणों को देखेंगे जैसे की हर बात पर गुस्सा करना, चिड़चिड़ा जाना, खुद को कोसते रहना, छोटी छोटी बातों पर रो देना या बहुत अधिक भावुक हो जाना।

आप अगर ऐसे लक्षण खुद में या किसी और में देखते हैं तो आपको ऐसे में विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। आइये जानते है की कैसे आप Depression Treatment कर सकते हैं-

1- नियमित दिनचर्या (Daily Routine)

इयान कुक, यूसीएलए में एक मनोचिकित्सक और डिप्रेशन रिसर्च एंड क्लिनिक प्रोग्राम के निदेशक हैं, कहते हैं की यदि आप उदास हैं, तो आपको नियमित रूटीन की आवश्यकता है। अगर आप एक नियमित दिनचर्या का पालन करते हैं। हर काम को एक नियत वक़्त पर करते हैं। तो आपके Depression की समस्या काफी हद्द तक काम हो जाएगी।

2- खुद को कम न समझे (Don’t underestimate Yourself)

अकसर ऐसा होता है जब हम खुद को दूसरों से काम आंकने लगते हैं। ऐसे में कोई भी व्यक्ति Depress हो जाता है उसके अंदर खुद के प्रति हीं भावना आ जाती है। Depression Treatment के लिए ये बहुत जरूरी है की आप खुद को कभी किसी और से कमजोर न समझे। अपनी छमताओं को पहचाने। हमेशा खुद को याद दिलाते रहें की आप ईश्वर द्वारा बनाई की सभी सुन्दर रचनाओं में से एक हैं।

3- खुद से प्यार करे ( Love Yourself)

जीवन में खुश रहने और तनाव से बचने के लिए जरूरी है की आप खुद से प्रेम करे। नहीं नहीं मै आपको स्वार्थी बनने के लिए नहीं बोल रही हूँ। आप अपने आस पास की चीज़ों के साथ साथ खुद से भी प्रेम करे। अपने आपको शीशे मै देखे। खुद को थोड़ा सजाये। ये सिर्फ महिलाओं के लिए नहीं है। पुरुष भी ऐसा कर सकते हैं।

आप सोच रहे होंगे की पुरुषो का सजने सवारने से क्या लेना देना? जी बिलकुल है। पुरुष अच्छे कपड़े पहने आईने के सामने खुद को पूरे आत्मविश्वास से देखें। कई बार ऐसा होता है की हम किसी और को उसकी सुंदरता को उसके Looks को देखकर खुद को बुरा या फिर बदसूरत समझने लगते हैं। आपको इससे बचना है। और इसके लिए आईने में खुद को देख कर दिन में एक बार जरूर कहे की आप बहुत ही अच्छे और साहसी है।

4- नियमित व्यायाम और योग करें (Do Daily Exercise & Yoga)

तनाव से चटकारा पाने और अपने मूड को अच्छा करने के लिए आपको अपने दिन की शुरुवात एक्सरसाइज और योग से करनी ही चाहिए। नियमित व्यायाम, योग और ध्यान करने से अवसाद (Depression) रोगियों के मष्तिष्क को शांति मिलती है। इसलिए अगर आप कोई एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो अभी भी देर नहीं हुई उठिये और कल सुबह ही निकल जाइये। कम से कम २० मिनट Walk , Exercise और योग कीजिये. यकीन मानिये जब सुबह की हवा आपके चेहरे से टकराएगी तो आपको एक अलग ही ताजगी और ख़ुशी का अनुभव होगा.

5- अच्छा भोजन (Balanced Diet)

आप सोच रहे होंगे की Depression Treatment का खाने से क्या लेना देना? अरे जनाब बिलकुल हैं। जब कोई व्यक्ति उदास होता है या Depression में होता है तो उसकी daily routine तो बिगड़ती ही है साथ की उसके खाने पिने का भी तरीका बदल जाता है। उदास व्यक्ति को भूख भी नहीं लगती। और जिससे लगातार वजन गिरने की समस्या हो सकती है।

वही कभी कभी ऐसा भी होता है की व्यक्ति बहुत ज्यादा खाने लगता है जिससे वजन बढ़ने की समस्या हो जाती है। इसलिए जितना हो सके नियत वक़्त पर संतुलित भोजन करें। ज्यादा तला भुना न खाये।

6- सामाजिक रूप से सक्रिय रहें (Be Socially Active)

आज की भाग दौड़ से भरी इस ज़िन्दगी में हमे बहुत ही काम वक़्त मिल पता है जब हम अपने दोस्तों परिवार वालों और रिश्तेदारों से मिले उनसे बातें करें। कई बार या कहें की अक्सर देखा गया है की जो लोग समाज से अलग दूर रहते हैं उन्हें डिप्रेशन ज्यादा होता है। तो आपको थोड़ा वक़्त अपने दोस्तों और अपने परिवार के साथ बिताना चाहिए। हमारा परिवार हमारे मित्र हमारे Depression को अच्छी तरह दूर कर सकते हैं।

7- अपने डर का सामना करें (Face Your Fear)

कई बार हम जाने अनजाने कुछ चीज़ों से डरने लगते हैं। कई कामो को जिन्हे हम कठिन समझते हैं उनसे भागते है। और ऐसे में मन में एक हताशा निराशा उत्पन्न हो जाती है। व्यक्ति अवसाद से घिर जाता है। ऐसा अवसाद ज्यादातर पढ़ने लिखने वाले बच्चों में देखा जाता है।

बच्चे कभी किसी Subject कभी Exam तो कभी Results से डरते हैं। इससे वे मानसिक तनाव से घिर जाते हैं। ऐसे में अपना आत्मविश्वास बढ़ाते हुए। पूरे धैर्य से काम करना चाहिए। जिन चीज़ों से आपको दर लगता है उनसे बचे नहीं भागे नहीं। पूरे सहस के साथ उनका सामना करे।

8- मनपसंद काम करें (Do Your Favorite Work)

चाहे कोई भी व्यक्ति हो किसी भी उम्र का हो हर व्यक्ति को कुछ न कुछ करना पसंद होता है। कुछ लोगों को घूमना पसंद होता है तो किसी को फिल्म्स देखना, तो किसी को बेहतरीन खाना खाने का शौक होता है। आप भी पता करिये की क्या है ऐसा जो करना आपको सबसे ज्यादा पसंद है। और उस काम को कर के देखिये। आपको खुद विश्वास नहीं होगा की आप कितना अच्छा महसूस कर रहे हैं।

अपना पसंदीदा काम करने से व्यक्ति को मानसिक शांति मिलती है । और Depression Treatment का बहुत ही कारगर उपाय हैं।

9- खुशनुमा पसंदीदा संगीत सुने (Listen Music)

शोध के मुताबिक जब आप परेशान या उदास हो तो आपको आपका पसदीदा music सुनना चाहिए। लेकिन ध्यान रखें की खुशनुमा Music ही सुने। Depression में दुखी संगीत बिलकुल भी नहीं सुनना चाहिए। इससे आपका मन और दुखी हो जाता है। संगीत में आपको डिप्रेशन से निकलने की अद्भुत क्षमता होती है।

अच्छा और मनपसंद संगीत आपके अंदर पैदा हुए नकारात्मक विचारों को दूर कर देता है और आपके मूड को एकदम अच्छा कर देता है।

10- अपनी बात किसी से कहे और अकेले बिलकुल भी न रहें (Share Your Problems)

अगर आप Depression से गुजर रहे हैं, तो आप किसी ऐसे व्यक्ति से बात करें जिससे बात करना आपको अच्छा लगता है।। ऐसा व्यक्ति जिससे आप आप अपने विचार और परेशानियां साझा कर सकते हैं। कोई क्या सोचेगा ऐसी कोई शर्म या संकोच मन में न रखें। आप जिससे अपनी बात साझा कर रहे हैं वह व्यक्ति भरोसेमंद होना चाहिए और साथ ही ऐसा हो जो आपकी बात को समझकर अपने तक रख सके। और आपको सही सलाह दे सके।

जब डिप्रेस व्यक्ति अकेले रहता है तो अपने अंदर कई तरह की कामियतन खोजने लगता है। पुरानी बातों को याद करने लगता है। बीत चुकी बातों को बार बार याद करने से व्यक्ति स्वयं को मानसिक हानि पहुँचता है। और जल्दी ही उसे गहरी निराशा घेरने लगती है। इसलिए जो बीत चूका है उसे भूल जाये और अपने वर्तमान और फ्यूचर पर फोकस करें।

मेरी बात

दोस्तों आजकल की परिस्तिथियाँ ही ऐसी हैं की व्यक्ति रोज़गार को लेकर बीमारी को लेकर और कई वजहों से परेशान है। लेकिन आपको इस परिस्तिथि का भी डटकर सामना करना है। खुद को अकेला और निराश बिलकुल भी महसूस न करें। अपनी बाते कहे। अगर आपको अपने आस पास कोई डिप्रेस व्यक्ति दीखता है तो उससे बात जरूर करें। किसी का भी मज़ाक न बनाये। डिप्रेशन एक बीमारी से ज्यादा एक परिस्तिथि है और परिस्तिथियाँ तो बदल जाया करती हैं।

आपको यह लेख Depression Treatment कैसा लगा हमे जरूर बताये। अगर आपके पास इस लेख को बेहतर बनाने का कोई सुझाव है तो हमे जरूर बताये। ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए बने रहे www.dailyhindihelp.com पर।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

पाखी ने करवाया अनुपमा पर जानलेवा हमला,अनुज अनुपमा की हो जाएगी मौत? Spoiler Alert! Anupamaa: Pakhi rejects the gift of love REBORN RICH TEASER : BORN IN THE FAMILY WHO KILLED HIM!!