darlings-movie-review

Darlings Movie Review: आग लगा देती है आलिया भट्ट, कहानी में है बेमिसाल ट्विस्ट

Darlings movie review, Darlings movie, Darlings movie review, Alia Bhatt , Alia Bhatt raises the bar, Alia Bhatt, Vijay Varma, Shefali Shah and Roshan Mathew, डार्लिंग्स, आलिया भट्ट, विजय वर्मा, रोशन मैथ्यू

दोस्तों औरत कभी ना कभी कहीं ना कहीं किसी न किसी रूप में घरेलू हिंसा की शिकार होती ही रहती है। हालांकि पहले के जमाने में तो घरेलू हिंसा पर न बात की जाती थी और ना ही कोई ध्यान देता था। लेकिन आज के समय में घरेलू हिंसा पर काफी ज्यादा बात होती है। शायद लोगों ने औरतों के दर्द को समझा और आज इसके खिलाफ आवाज उठाने के लिए लोगों को जागरूक करने का बीड़ा ना केवल सरकार ने उठाया बल्कि फिल्मों के जरिए भी अब इस मुद्दे पर आवाज उठाई जाने लगी है।

इसी तरह घरेलू हिंसा के मुद्दे पर बनी फिल्म डार्लिंग मैं भी घरेलू हिंसा के मुद्दे को काफी बढ़िया तरीके से दर्शाया गया है। कहानी में एक पति है जिसे बाहर की दुनिया में प्रताड़ना मिलती है। तो वह अपने घमंड को बनाए रखने के लिए घर पर अपनी बीवी से बदसलूकी करता है। उसे मारता पीटता है जबकि बीवी उसे काफी प्यार करती है और बहुत ही मासूम है।

बाहर वाले लोगों की भड़ास वह बीवी पर निकालता है बीवी को हर बात पर जलील करता है, पीटता है बदसलूकी कर के खुद को बड़ा समझने की कोशिश करता है। बीवी पति की हर हरकत को चुपचाप सहती जाती है, यह सोच कर कि वह एक दिन बदल जाएगा, लेकिन पति कभी नहीं बदलता। बल्कि पत्नी को भी बदलना पड़ जाता है जरिए वह कैसे???

इस तरह रोज-रोज मार और गीतकार सहते सहते एक दिन बीवी थक जाती है और अपने साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ बुलंद आवाज उठाती है और फिर आता है बदलाव।

Darlings Movie Review In Hindi

दर्शन पूरी कहानी की शुरुआत होती है दो प्यार करने वालों से जो बहुत प्यार करते हैं दूसरे से। और शादी करना चाहते हैं और उनकी शादी भी हो जाती है। शादी के बाद बदरू शेख(आलिया भट्ट) और हमजा (विजय वर्मा) की जिंदगी में प्यार कम और तकरार ज्यादा होने लगती है। हम जा फिर लव मैरिज कर के बदरू कई सारे बड़े-बड़े सपने देखती है एक अच्छा घर, प्यार करने वाला पति और एक बच्चा।

लेकिन हमजा को शराब पीने की बहुत बुरी आदत होती है। वह अपनी नौकरी से भी इतना ज्यादा खुश नहीं है क्योंकि वह एक टीसी बनने के बाद भी उसे बॉस की टॉयलेट साफ करनी पड़ती है हम जा हर रोज घर में शराब पीकर आता है।

घर आने से पहले ही उसे खुश करने के लिए अच्छा अच्छा खाना बनाती है उसकी सेवा करती है जैसी ही घर या बच्चे की बात करती है हमजा बदरू को मारने पीटने लगता है। अब बदरू हमजा से डरने लगती है और डर डर कर सारे काम करती है। बदरू की मां शमशु जो घर के पास में ही रहती है उसे अपनी बेटी को इस हालत में देख कर बहुत दुख होता है। वह अपनी बेटी को समझाती है कि या तो हमजा को छोड़ दे या उसे जान से मार दे लेकिन हमजा अपने पति से प्यार करती है इसलिए ऐसा नहीं कर सकती।

Big Boss 16: सितंबर में प्रोमो शूट करेंगे सलमान खान, इस दिन से शुरू होगा शो!

इसलिए खास है Darlings…

और फिर 1 दिन बाद बदरू और हमजा की जिंदगी एक नया मोड़ लेती है। जब जुल्फी बदरू को रोज पीटता देख कर एक दिन पुलिस में हमजा की शिकायत कर देता है। जुल्फी बदरू की मां के घर पुराना सामान बेचने आता है जिससे दोनों का ताल्लुक हो जाता है। बदलू को परेशान देखकर वह पुलिस को हमजा की शिकायत कर देता है। जब पुलिस पूछताछ करती है तो दिल मजबूत करके बदरू भी हमजा की शिकायत कर देती है।

लेकिन हम जा अपनी बीवी को बहला-फुसलाकर पुलिस की शिकायत वापस लेने को राजी कर लेता है। और फिर दोनों नई शुरुआत करके घर चले जाते हैं। कुछ दिनों के बाद हमजा को पता चलता है कि उसका लीवर खराब हो चुका है हमजा घर जाता है। बदरू उसे अपने मां बनने की खबर देती है दोनों खुशी-खुशी साथ रहते हैं। फिर एक दिन हमजा को पता चल जाता है कि पुलिस ने उसकी शिकायत जुल्फी ने की थी हमजा यह जानकर बहुत गुस्सा हो जाता है।

darlings-movie-review
Darlings Movie Review In Hindi

हम जा घर आकर अपनी बीवी को जुल्फी के साथ नाजायज रिश्ते में होने का इल्जाम लगाता है। हमजा अपनी बीवी को गुस्से में बेरहमी से पीटता है और सीढ़ियों से धक्का दे देता है। इससे बदरू का बच्चा मर जाता है और खुदखुशी के बारे में सोचती है। लेकिन उसका इरादा बदल जाता है और वह हमजा को सबक सिखाना चाहती है अब यहां से कहानी की नई शुरुआत होती है।

घरेलू हिंसा पर आपने इससे पहले कई सारी वेब सीरीज देखी होंगी लेकिन यह फिल्म आपको एंड तक बांधे रखती है। आलिया भट्ट ने जिस तरह से अपने आप को किरदार में डाला है वह बहुत ही सच्चा और दिल को छू जाने वाला लगता है। एक डरपोक सहमी हुई बीवी से निडर बेखौफ और दबंग डार्लिंग बनने का सफर आलिया भट्ट ने जिस तरह तय किया है वह वाकई में तारीफ ए काबिल है। आलिया कमाल की एक्टिंग करती है।

फिल्म का हर एक कैरेक्टर काफी ज्यादा बढ़िया है। फिल्म में मां बेटी की जोड़ी काफी बढ़िया तरीके से निभाई गई है। ड्रामा काफी ज्यादा एंटरटेनिंग है। और सबसे बड़ी बात तो यह है कि जुल्फी को बदरू से नहीं बल्कि उसकी मां समसू से प्यार है कहानी का यह जानने के लिए डार्लिंग फिल्म जरूर देखें।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

जब अनुपमा के साथ हो गया था बड़ा हादसा,जान बचाकर भागी थीं एक्ट्रेस ऐश्वर्या राय से लेकर चियां विक्रम तक ने ली इतनी फीस!! बा और पाखी ने दिखाए तेवर, अनुपमा ने दिए ऐसे जवाब