Tap to Read ➤

National Science Day 2022

28 फरवरी को क्‍यों मनाते हैं नेशनल साइंस डे. 28 फरवरी 2022 को पूरे देश में मनाया जाएगा
इस दिन का महान वैज्ञानिक सीवी रमन का गहरा र‍िश्‍ता है. आप भी जान‍िये कि नेशनल साइंस डे को क्यों मनाया जाता है और महान वैज्ञानिक सीवी रमन को इस दिन क्‍यों याद किया जाता है.
दुन‍िया के सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक प्रो. सीवी रमन का काम (CV Raman's work) विज्ञान के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण रहा है और उनका जीवन कई लोगों के लिए एक सीखने वाला सबक रहा है.
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day) को रमन प्रभाव की खोज को चिन्‍ह‍ित करने के लिए मनाया जाता है. प्रोफेसर सीवी रमन ने रमन इफेक्‍ट की खोज की और भौतिकी में उनके इस योगदान ने साल 1930 में भौतिकी में नोबेल पुरस्कार भी दिलाया.
Web Stories
भूमध्य सागर के नीले रंग के पीछे के कारण को समझने के लिये उन्‍होंने पारदर्शी सतहों, बर्फ के ब्लॉक और प्रकाश के साथ विभिन्‍न प्रयोग किए. फिर उन्होंने बर्फ के टुकड़ों से प्रकाश के गुजरने के बाद तरंग दैर्ध्य में बदलाव देखा. इसे ही रमन इफेक्‍ट कहा गया. इस खोज ने भौतिकी के क्षेत्र में बडा योगदान द‍िया.
Bold Web Stories

दोस्तों हमारा अथक प्रयास रहता है कि आप तक बढ़िया से बढ़िया जानकारी सबसे पहले पहुंचाई जाए आप भी हमारे साथ जुड़े रहिए Dailyhindihelp.com और On Fans Demand पर

YouTube
बहुत जल्‍द ही सीवी रमन ने इस नई खोज के बारे में पूरी दुनिया को बताया.साइंस के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए NCSTC ने नेशनल साइंस डे के रूप में मनाने का फैसला किया.
Web story

The theme of National Science Day 2022 is 'Integrated Approach in Science and Technology for Sustainable Future'.

Visit us
साल 1943 में उन्होंने बैंगलोर के पास रमन रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना की.
भौतिकी को रमन इफेक्ट द‍िया, जिसका भौतिकी में बहुत खास योगदान है.
साल 1954 में भारत रत्‍न से सम्मानित किया गया.
साल 1957 में रमन को लेनिन शांति पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया.
Read More